चाशनी में डूबे रसगुल्ले देख कर मुँह में पानी आ जाता है इसीलिए इसे हर त्यौहार में अन्य मिठाइयों के साथ बनाया जाता है।

आप इन्हे बहुत ही आसानी से घर में बना सकते है रस से भरे ये रसगुल्ले बहुत ही स्वादिष्ट लगते है इन्हे बनाने के लिए दूध और चीनी के साथ इलायची और नींबू की जरूरत होती है जो हर घर की रसोई में हमेशा ही उपलब्ध रहते है।

इन रसगुल्लों को छैने के रसगुल्ले के नाम से भी जाना जाता है इन्हे बनाने के लिए थोड़ी सी मेहनत और अनुभव की जरूरत होती है।

दूध से बने रसगुल्ले खुशबूदार, रस से भरे और स्पॉन्जी होते है यदि आप इन्हे ठंडा करके खायेगे तो आपको और भी स्वादिष्ट लगेंगे

इस पोस्ट में हम आपको एक आसान सी रेसिपी लाये है जिसकी सहायता से आप दूध के रस भरे रसगुल्ले बनाये।

रसगुल्ले बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

  • दूध : 1 लीटर
  • नींबू : 2 चम्मच
  • पानी : 2 गिलास
  • अखरोट : 2 चम्मच
  • चीनी : 500 ग्राम
  • हरी इलायची : 1

आवश्यक बर्तन

  • एक पतीला दूध उबालने के लिए।
  • एक करछल दूध को चलाने के लिए।
  • सूती का कपड़ा पानी और छैने को अलग-अलग करने के लिए।
  • एक परात छेने को मसल-मसल कर चिकना करने के लिए।
  • एक भिगोना चाशनी बनाने के लिए।
  • एक ढक्कन भिगोने को ढकने के लिए।

रसगुल्ले बनाने की विधि

रसगुल्ला बनाने के लिए सबसे पहले छैना बनायेगे

छैना बनाने के लिए एक पतीले में एक लेटर दूध को छान ले और गैस पर रख दे।

गैस को चालू करके दूध को करछल से चलाते हुए दो तीन उबाल आने तक पकाये।

जब तो उबाल आ जाये तो गैस को बंद कर दे और एक कटोरी में दो चम्मच नींबू का रस डाले और उसमे थोड़ा सा पानी मिला ले।

अब नींबू को थोड़ा-थोड़ा करके गर्म दूध में डाले और करछल से चलाते जाए जब नींबू का रस ख़त्म हो जाए तो दूध में करछल को तब तक चलाये जब तक दूध में से पानी और दूध दोनों अलग-अलग न हो जाए।

थोड़ी देर में दूध में से पानी और छैना अलग-अलग हो जायेगे, जब अलग-अलग हो जाए तो सूती के कपड़े को एक बर्तन के ऊपर बिछा दे. अब उस कपड़े में से छैने को छान कर अलग कर ले।

जब छैना छन जाये तो छैने के ऊपर से थोड़ा-थोड़ा पानी डाले और चैने को हाथ से दबाये ताकि छैने में से नींबू का टेस्ट अलग हो जाए।

छैने को दबा-दबा कर धोने के बाद कपड़े की पोटली बना कर सारा पानी निकाल दे।

अब छैने को एक परात में निकाले अब छैने को हाथ से मसल-मसल कर चिकना कर ले बिल्कुल आटे जैसा कर ले।

जब छैना चिकना हो जाए तो उसमे दो चमचे अखरोट का आटा मिला कर दुबारा से चिकना कर ले।

छैना को अच्छी तरह से मसल कर चिकना करे।

जब छैना और अखरोट आटे जैसा गूथ कर चिकने हो जाए तो छैने को इकठा करके छोटे-छोटे नींबू जितने हिस्सों में बाट ले और दोनों हाथो की सहायता से गोले बना ले और एक कपड़े से ढक कर रख दे।

अब रसगुल्लों को रस भरा बनाने के लिए चाशनी बनायेगे।

चाशनी बनाने के लिए एक भिगोने में दो कप पानी, चीनी और इलायची डाल कर गैस की तेज आंच में रखे और चमचे से चलाते हुए चीनी को घोल दे जब उबाल आने लगे तो छैने के बने गोले डाल दे।

गोले डालने के बाद पांच मिनट तक ऐसे ही पकाये उसके बाद भिगोने को एक ढक्कन से ढक दे और 10 मिनट तक गोलों को चाशनी में पकने दे।

गोलों को चाशनी में पकाते समय 5 मिनट बाद एक बार ढक्कन निकाल कर देख ले चाशनी गाढ़ी होने लगी होगी, जब चाशनी गाढ़ी होने लगे तो गोलों के ऊपर से एक चम्मच से चाशनी डाले ताकि रसगुल्लों के अंदर तक अच्छे से चाशनी भर जाए।

जब गोलों को चाशनी में पकते हुए 20 मिनट हो जाए तो गैस को बंद कर दे।

रसगुल्ला तैयार है आप उन्हें ठंडा होने पर परोस सकते है, यदि आप इन्हे एक दिन बाद ठंडा करके खायेगे तो ये और भी स्वादिष्ट लगेंगे।

ये भी जाने –

रसगुल्ला बनाने के लिए आवश्यक सुझाव

  • छैना के रसगुल्ला बनाने के लिए आप फूल क्रीम दूध का इस्तमाल करे जिससे ज्यादा छैना मिलेगा तो अच्छे और ज्यादा रसगुल्ले बनेगे।
  • आप जब भी रसगुल्ले बनाना चाहते है तो छैना तुरंत ही बनाये पहले से बना रख छैना इस्तमाल न करे।
  • छैने को पानी से धोने के बाद दोनों हाथो से अच्छे से मसल मसल कर आटे जैसा चिकना कर ले।
  • याद रहे जब छैने के बने गोलों आप चाशनी में डालेंगे तो उसके बाद चाशनी में उबाल आने बंद नहीं होना चाहिए।

छैना के रसगुल्ला बनाने के लिए आप दूध की उबालने के बाद गैस को बंद कर दे और थोड़ा-थोड़ा नींबू का रस डालना शुरू करे और चमचे से चला कर छैने और पानी को अलग-अलग कर ले।

छैना अलग हो जाने पर छैने को पानी डाल कर दबा-दबा कर धो ले और सूती के कपड़े को समेट कर पोटली बना ले और अतिरिक्त पानी निकाल दे।

पानी निकालने के बाद छैने को हाथ से मसल-मसल कर आटे जैसा चिकना कर ले और गोले बना ले।

गोले बनाने के बाद एक भिगोने में पानी, चीनी और इलायची डाल कर एक उबाल आने दे एक उबाल आ जाने पर छैने के बने गोले डाल दे और भिगोने को ढक्कन से ढक दे और 10 मिनट तक पकने दे।

जब 20 मिनट हो जायेगे तो आप गैस को बंद कर दे और रसगुल्लों को देखेंगे तो वो फूल कर दोगुने हो जायेगे और चाशनी गाढ़ी हो जाएगी।

रसगुल्ला तैयार है आप इन्हे तुरंत खा सकते है और यदि आप इन्हे तुरंत नहीं खाना चाहते है तो उन्हें फ्रिज में रख दे और चार पांच घंटे बाद खाये फिर खाये बहुत ही स्वादिष्ट लगेंगे।

यह थी रसगुल्ले बनाने की विधि आशा है आपको पसंद आई होगी कमेंट करके जरूर बताये आपको मेरी यह रेसिपी कैसी लगी और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

कृपया शेयर करे !