दोस्तों इस आर्टिकल में रंगो के नाम हिंदी और अंग्रेजी में शेयर किये गए है।

वैसे तो कई रंग होते है लेकिन मैंने इस पोस्ट ऐसे रंगो के नाम शेयर किये है जो सबसे ज्यादा लिए जाते है, मैंने अक्सर पाया है की कुछ लोगो को रंगो के नाम हिंदी में याद होते है अंग्रेजी में याद नहीं होते है और यदि अंग्रेजी में याद होते है तो हमे उनका नाम हिंदी में पता नहीं होता है।

इस पोस्ट में मै आपको रंगो के नाम और उनकी पहचान बताऊगी ताकि आपको रंगो के नाम तो याद हो ही जाए साथ ही ये पता चल की कौन सा रंग कैसा दिखता है।

तो चलिए रंगो के मान हिंदी और अंग्रेजी में जानने के साथ उनकी पहचान भी करते है।

रंगो के नाम हिंदी में रंगो के नाम अंग्रेजी मेंअंग्रेजी में उच्चारण
लालRedरेड
नीलाBlueब्लू
पीलाYellowयेलो
कालाBlackब्लैक
सफेदWhiteवाइट
भूराBrownब्राउन
गुलाबीPinkपिंक
हराGreenग्रीन
नारंगीOrangeओरंगे
धुमैलाGreyग्रे
बैंगनीPurpleपर्पल
भूरा लाल रंग या करौंदियाMaroonमैरून
गहरा नीलाNavy Blueनेवी ब्लू
सुनहराGoldenगोल्डन
गहरा लाल रंगRubyरूबी
मिट्टी जैसा रंगClayक्ले
आसमानी रंगAzureअज़ूरे
पीतल रंगBronzeब्रोंज
गहरा पीलाBeigeबीज
चांदी जैसा रंगSilverसिल्वर
धातुमय रंगMetallicमैटेलिक
धूमिल सफ़ेदOff Whiteऑफ वाइट
भूरा पीला रंगAmberएम्बर
फ़िरोज़ाTurquoiseतुरकोईसे
जंग रंगRustरस्ट
बेर रंगPlumपल्म
अंगूर का रंगGrapeग्रेपस
टकसाल रंगMintमिंट
चूने का रंगLimeलाइम
हाथीदांत रंगIvoryलवर्य
जैतून का रंगOliveओलिव
हलके नीले रंगVioletवायलेट

रंगो की पहचान –

इस तरह से आप रंगो की पहचान बहुत ही आसानी से कर सकते है, तो चलिए अब मै आपको बताती हूँ की कौन सा रंग किस चीज का प्रतीक है।

लाल – लाल रंग का महत्व हिन्दू धर्म में बहुत होता है, हिन्दू धर्म में लाल रंग को मंगल और पराक्रम की प्रतीक माना जाता है लाल रंग मन को प्रसन्न करता है।

नीला – लाल रंग बल पौरूष और वीर भाव का प्रतीक माना जाता है, आसमना और समुद्र रंग नीला होता है इसलिए इसे विशालता और गहराई का प्रतीक माना जाता है।

पीला – पीला रंग मस्तिष्क आनंद और उत्तेजित करता है इसीलिए पीले रंग को विधा, सुख, शांति एकाग्रता और योग्यता का प्रतीक माना जाता है।

काला – काले रंग में चाहे कितने भी रंग मिला दिए जाए वह अपनी पहचान कभी नहीं खोता है, इसी तरह से हिन्दू धर्म में माना जाता है कि यदि कोई व्यक्ति काले रंग के कपड़े पहने कर नकारात्म शक्ति के सम्पर्क में आ जाए तो उस व्यक्ति के अंदर के सारे भावो को सोख लेता है।

नारंगी – नारंगी रंग जीवन में नया उजाला लाने वाली होती है, आज्ञा च्रक का रंग नारंगी होता है जो मानव शरीर में होता है।

हरा – हरा रंग खुशहाली का प्रतीक माना जाता है साथ ही हरे रंग को उर्वरकता, विश्वास, प्रगति और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। हरयाली देख कर आँखों बहुत सुकून मिलता है।

गुलाबी – गुलाबी रंग को प्यार और सौभग्य का प्रतीक माना जाता है, गुलाबी रंग की शोभा संसार में सबसे अलग है।

बैंगनी – बैंगनी रंग वैभव का प्रतीक है बैगनी रंग जादू और रहस्यों को प्रतिबिम्बित करता है।

भूरा लाल – यह रंग आत्मविश्वास उत्साह और जीवन जीने की इक्क्षा बढ़ाता है भूरा लाल रंग ताजगी और स्फूर्ति का प्रतीक माना जाता है।

गहरा नीला – गहरा नीला रंग सुकून और शांति का प्रतीक माना जाता है गहरा नीला रंग ब्लैड प्रेशर के मरीज का ब्लैड प्रेशर सामान्य रखने में मदद करता है, यदि आप जहा भी सोते है उस जगह पर गहरे नीले रंग का पैंट करे इससे सोते समय आँखो को बहुत सुकून मिलता है।

सुनहरा – सुनहरा रंग ऐश्वर्य का प्रतीक माना जाता है इसका इस्तमाल राजा महाराजो के वस्त्र बनाने में किया जाता था इसके साथ ही यह रंग परिवर्तन, शौक, दार्शनिक चित्रण का प्रतीक माना जाता है।

आसमानी रंग – आसमानी रंग सुख, शांति, विधा, ज्ञान, अध्ययन, विद्वता, योग्यता और एकाग्रता का प्रतिका माना जाता है।

भूरा पीला रंग – पीला रंग शांति, सहयोग, और निष्ठां का प्रतीक है भूरा पीला रंग तन व मन को शांत रखता है।

Also Read :

यह है मेरे द्व्रारा रंगो के नाम हिंदी और अंग्रेजी में साथ ही इसकी पहचान कौन सा रंग कैसा दिखता है कौन से रंग का क्या प्रतीक होता है। यह सब मैंने इस पोस्ट मै बताया है।

अब कही भी जैसे कपड़ो की खरीदारी करने या गाडी खरीदने या भी कुछ खरीदो ना तो हमे बहुत सारे रंग मिल जाते है लेकिन हमे रंगो के नाम पता नहीं होते है, इस पोस्ट में जितने भी रंगो के नाम दिए गए उनके अलावा यदि आपके पास और भी रंगो के नाम है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जरूर बताये मैं उन नामो को अपनी इस लिस्ट में शामिल कर लूँगी।

आशा करती हूँ आपको मेरी ये पोस्ट पसंद आई होगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बताये की जरूर बताये की आपको मेरी पोस्ट कैसी लगी और अपने दोस्तों में जरूर शेयर करे।