यदि आपसे मूली के पराठे नहीं बनते है तो इस पेज पर मूली के पराठे बनाने की सबसे आसान विधि शेयर की गई है, मूली के पराठे बनाने में बहुत ही कम समय लगता है।

दोस्तों, मूली बारिस और सर्दियों में आराम से मिल जाती है लेकिन सर्दियों में मूली का भाव कम होता है और ज्यादा मूली भी मिलती है, ताजी मूली लेकर सारी मिट्टी साफ करके पानी से धो कर कस ले या कद्दूकस कर ले और जो मूली के पत्ते है उन्हें भी पानी से धो लेंगे बारीक काट कर डालेंगे, इसमें हम अजवायन भी डालेंगे जिससे इसका टेस्ट और भी जाता बढ़ जाता है।

मूली के पराठे बनाने की सामग्री

  • गेहूँ का आटा : 200  ग्राम
  • नमक : स्वाद अनुसार
  • अजवायन : 1 छोटी  चम्मचआसान
  • तेल : आटा में मोन डालने के लिए
  • पानी : आटा गूँथने के लिए
  • मूली : 2  कद्दूकस की हुई
  • अदरक : 2 इंच कद्दूकस किया हुआ
  • हरी मिर्च : 2 कटी
  • मूली के पत्ते : बारीक कटे( वैकल्पिक )
  • हरी धनिया : 1/2 कप  बारीक कटी
  • गरम मसाला : 1 चम्मच
  • हल्दी : 1/2चम्मच
  • घी या तेल : पराठे सेकने के लिए

मूली के पराठे बनाने की विधि

मूली के पराठे बनाने के लिए सबसे पहले गेहूँ के आटे को एक परात में छान ले, अब उस आटे में थोड़ा सा नमक, अजवाइन और 2 छोटी चम्मच तेल डाले अब सारी चीजों को आटे में दोनों हाथो से मिक्स कर ले।

1 मिनट तक आटे को अच्छे से मिक्स करे ताकि जो तेल डाला है वो आटे में सभी जगह मिल जाये अब आटे में एक हाथ से थोड़ा – थोड़ा कर के पानी डाले और दूसरे हाथो से गूथना शुरू करे आटा पूरी से थोड़ा नरम गूथे, जब आटा गूँथ जाये तो उसे ढक कर रख दे।

अब आप 2 मूली को ले और छिलके उतार ले छिलके उतारने के बाद मूली को एक कटोरे में कद्दूकस कर ले कद्दूकस की हुई मूली को दोनो हाथो से निचोड़ के सारा पानी मूली से निकाल दे।

निचोड़ी हुई मूली को कटोरे में रख ले और पानी को अलग कर दे अब वाकी के मसाले भी कद्दूकस की हुई मूली के कटोरे में मिलाये अदरक कद्दूकस कर ले हरी मिर्च को बारीक काट ले, हरी धनिया को बारीक काट ले।

अब जिस कटोरे में कद्दूकस की हुई मूली रखी है उसी में अदरक, मिर्च, मूली के पत्ते और हरी धनिया डाले मिक्स करे इसमें गरम मसाला, नमक स्वादानुसार, हल्दी पाउडर डाले और मिक्स करे।

कटोरे में डाले मसाले अच्छे से मिक्स हो जाने चाहिए जब सारे मसाले मिक्स हो जाये तो पराठे का भरवा मसाला तैयार है इसे आप ज्यादा समय तक न रखे नहीं तो मूली फिर से अपना पानी छोड़ने लगेगी जिससे आप जब इसे पराठे में रख कर बेलेगे तो बेलते नहीं बनेगा।

जो आटा गूथ कर रखा था उसे निकाले और दोनों हाथो से मसल ले आटे को मसलने के बाद आटे को चकले पर रख कर पांच से छ: लोई बना ले।

लोई को दोनों हाथो से एक बार और अच्छे से मीड ले लोई को दोनों हाथो से दबा कर चपटा करके चकले पर थोड़ा पूरी से छोटा बेलन से बेल ले यदि आप से हाथ से लोई को बड़ा करते बन जाये तो वैसे भी बना सकते है।

अब जो आटे की लोई बनाई है उसमे कटोरे में मिक्स किया मूली धनिया और मसाले डाले कर जो भरवन तैयार किया था उसे पूरी के बीच में रख दे और हाथ से उस पूरी को बंद करेगे पूरी को अच्छे से बंद करे ताकि बेलते समय बह बीच से खुले न।

अब आप इसे बेलन से बेल लीजिए, इसे थोड़ा मोटा बेलेगे आप इसे बेलते समय तेल या सूखा आटा लगा ले बेलने में आसानी होगी।

यदि आपका पराठा चकले में चिपक रहा है तो सूखा आटा लगा कर बेलते जाये जब पराठा बिल जाये जो तवे को गैस पर गर्म करे जब तवा गरम हो जाये तो पराठे को तवे पर फैला दे।

गैस की आंच को मीडियम से कम कर ले वरना पराठा जल जायेगा पराठे को डालते ही तेल नहीं डालना है।

अब पराठे पर हल्के लाल चिट्टे आने लगे तो पराठे को चम्मच से या चिमटे से पलट दे और दूसरी तरफ भी चिट्टे आने दे।

अब दोनों तरफ एक-एक चम्मच घी या तेल लगा कर पराठा को धीमी आंच में सेके पराठे को एक-दो बार और चमचे से पलट कर सेक ले।

जब दोनो तरफ से अच्छे से सिक जाये तो इसे एक प्लेट में निकाल ले इसी तरह से सार पराठे सेक ले इनको गर्म-गर्म खाने पर इनका स्वाद हल्का कुरकुरा और तीखा होता है।

ये भी जाने 

मूली के भरवा पराठे बनाने के सुझाव

यदि आप को मूली के पत्ते पसंद नहीं है तो न डाले।

घी या तेल दोनों के साथ सेक सकते है।

इसमें अजवायन डाले ताकि जिन लोगो को मूली के पराठे पसंद नहीं होते है वो भी इन पराठो को खाना चाहेंगे।

हल्दी आप चाहे तो डाले बरना इसकी कोई जरूतर नहीं है हेल्दी सेहत के लिए बहुत सेहत मंद होती है ।

पराठो को दोनों तरफ से कम तेल लगा कर सेके क्योकि पराठो को सेकने में ज्यादा तेल नहीं लगता है।

मूली के भरवा पराठे परोसे

हमारे यहां मूली के पराठे को टमाटर की खट्टी मीठी चटनी के साथ खाया जाता है आप इसे टॉमेटो सॉस के साथ आलू की सब्जी के साथ नीबू के अचार के साथ दही के साथ पुदीने की चटनी के साथ खा सकते है।

कृपया शेयर करे !