अजवायन खाने के फायदे

अजवायन केवल घर की रसोई में इस्तमाल करने का मसाला ही नहीं है बल्कि इसमें ऐसे औषधी गुण पाये जाते है जिनसे कई तरह के रोगो और बीमारियों से राहत पाई जा सकती है इसी कारण से भारत की हर रसोई में अजवायन इस्तमाल किया जाता है।

इसलिए इस पेज पर हमने अजवायन के औषधीय गुणों की जानकारी के साथ अजवायन खाने के फायदे शेयर किये है।

अजवायन खाने से होने वाले लाभ

1. पेट से जुडी समस्याओ में राहत

पेट दर्द में पाए राहत

वैसे तो अजवायन खाने के बहुत सारे फायदे है लेकिन पेट दर्द में तो जैसे जादू की तरह काम करता है और यदि गैस की समस्या हो तो फिर तो आपको अजवायन जरूर खानी चाहिए।

अजवायन में एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन, खनिज, और फाइवर जैसे पोषक तत्व पाये जाते है क्योकि अजवायन पेट से जुड़ी कई समस्याओ के लिए बहुत ही लाभकारी है।

इसका सेवन करने से पेट दर्द, उल्टी, खट्टी डकारे और एसिडिटी में बहुत आराम मिलता है अब आपको बताते है कैसे इसका सेवन करना है।

उलटी आने पर और पेट ख़राब होने पर एक चौथाई चम्मच अजवायन को मुँह में रख कर चबाये पेट दर्द में आराम मिलेगा और उल्टी आना बंद हो जाएगी।

यदि आपको खट्टी डकारे आती है तो आप सूखे अदरक के पाउडर में काला नमक और अजवायन को मिला कर खाना खाने के बाद खाये इससे आपको खट्टी डकारे नहीं आएगी।

2. फ़्लू, वायरल और इन्फ़ेक्सन से बचाव

इंफेक्शन

आजकाल मौसम का कोई भरोसा नहीं है जिसके कारण से हम कई तरह की बीमारियों के शिकार हो सकते है। इसी बीच यदि किसी को फ़्लू हो जाये, तो फिर यह धीरे-धीरे घर के सभी लोगो में होने की संका बढ़ जाती है।

यदि आपको फ्लू और वायरल इन्फ़ेक्सन है तो आपको एक गिलास पानी ले उसमे एक चम्मच अजवायन डाले और अब उस पानी को गैस पर रख कर गैस की आंच में पानी को अजवायन के साथ आधा होने तक पका ले और फिर उसका सेवन करे इसके साथ आप सारा दिन उबले हुए पानी का सेवन करे।

ऊपर दिये उपाए के साथ – साथ आपको नहाते समय गुनगुने पानी में डिटोल मिला कर नहाना चाहिए, इसके साथ आपको खाने में चाहे जो भी खाये फल हो या कोई भी चीज ताजा ही खाना चहिये।

3. जोड़ो के दर्द में आराम

जोड़ो के दर्द

आजकल जोड़ो का दर्द किसी भी उम्र के लोगो को होने लगा है।

यदि आप जोड़ो के दर्द से जड़ से छुटकारा पाना चाहते है अजवायन का इस्तमाल लाभदायक हो सकता है।

अजवायन में एंटीबायोटिक यौगिक, एंटीइंफ्लेमेंटरी और एस्थेटिक गुण होता है सूजन को कम कर गांठ वाले स्थान को दर्द में राहत दिलाता है।

सबसे सरल तरीका अजवायन को पीस कर सरसो के तेल में मिला कर, जिस जगह दर्द होता है उस जगह लगा ले राहत मिलेगी।

जिस जगह आपको दर्द होता है उस जगह पर आप अजवायन के तेल की मालिस करे।

यदि आपके पास अजवायन हो तो उसे आग में डाल कर उसके धुएं से प्रभावी अंग की सिकाई करे या फिर इसके पाउडर को कॉटन के कपडे में बाध कर उस अंग की सिकाई करे।

यदि आपको पुराना गठिया रोग है तो आप इसके तेल को दालचीनी के एक टुकड़े को पीस कर मिला ले और उस जगह सुबह शाम पर लगाए यदि आपको इसकी गंध पसंद नहीं है तो आप इसे नहाने के एक घंटे पहले लगाए और फिर नहा ले इसे इसके गंध नहीं आएगी।

4. बवासीर में आराम

बवासीर में कैसे पाए राहत

बवासीर एक ऐसी बीमारी है जो लोगो में एनस के अंदर और बाहर दोनों तरफ हो सकता है जब यह होता है तो मलाशय के बाहर सूजन आ जाती है, जिसकी वजय से एनस में उपस्थित कोशिकओ में मस्से बन जाते है ये मस्से एनस के अंदर या बाहर कही भी हो सकते है ये दर्द तो नहीं करते है लेकिन रक्त का बहाव कभी कभी होता है और सूजन होने की वजय से चलने में परेशनी होती है।

बवासीर किसी भी उम्र के लोगो को हो सकता है और यदि इसका इलाज समय पर न किया गया तो छोटी सी बीमारी बड़ी परेशानी बन जाती है।

ये बीमारी जिन लोगो को रोजगार से या किसी और समस्या से घंटो खड़े रहना पड़ता है और साथ वजन भी लिए रहना होता है उन लोगो को बवासीर होने अधिक चांस होते है।

यदि किसी व्यक्ति को कब्ज की परेशनी है जिसकी वजय से उन्हें मलत्याग करने में परेशनी होती होगी, जिसकी वजय से उस व्यक्ति को घंटो उकडू बैठना पड़ता होगा, जिसकी वजय से कोशिकाएं खिचती है और रक्तवाहनिया फूल कर फट जाती है और मस्सा बन जाती है।

ऐसे कई कारण है जिनसे बवासीर की बीमारी हो जाती है जिससे लोग कई तरह की दवाओं का सेवन करते है या ऑपरेशन करवा के इससे राहत पाते है यदि आपको भी बवासीर की परेशनी है तो आप घर में भी इसका इलाज कर सकते है तो चलिए जानते है बवासीर को घर में ही कैसे ठीक करते है।

सबसे पहले तो आप एक गिलास छाछ यानि की मट्ठा ले और उसमे एक स्वाद अनुसार काला नमक और आधे चम्मच से कम अजवायन का पाउडर डाले और रात के खाने के बाद और दोपहर के खाने के बाद इसका सेवन करे।

जब आप नहाए तो पानी गुनगुना गर्म कर ले और अब इसे बाथ टप या कोई भी बड़ा बर्तन ले उसमे पानी डाल कर आप भी उस पानी में बैठ जाये ऐसा करने से आपकी सूजी हुई कोशिकाओं की सिकाई हो जाएगी।

5. अजवायन से डायबटीज कम करे

मधुमेह होने पर क्या खाये

डायबटीज के मरीजों अपने खान पान का बहुत ख्याल रखना पड़ता है यदि थोड़ी से गड़बड़ी हुई और परिणाम तुरंत देखने को मिल जाता है ऐसे में आपको ये घरेलू उपाए जरूर करने चाहिए

अजवायन में बहुत सारे औषधीय गुण होते है जो आपके शरीर में बड़ी शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने में सहायता करता है यदि आप एक चम्मच अजवायन के पाउडर में एक चम्मच जीरा पाउडर और आधा चम्मच नीम का पाउडर को गर्म -गर्म एक गिलास पानी या दूध में मिला कर सेवन करे बहुत आराम मिलेगा, और शुगर भी नियंत्रित में होगी।

6. कान के दर्द में आराम

कान दर्द

कान में दर्द कई कारणो से हो सकता है जैसे सर्दी और जुखाम, कान को साफ करने से चोट लग जाना, कान का पर्दा फटना या पर्दे में छेद होना, नहाते समय कान में पानी की वजय से दर्द होना, किसी बारीक़ चीज से कान में खुजली करने से साइनस सक्रमण के कारण, दांत में बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण और जबड़े में सूजन होने के कारण भी कान में दर्द होने लगता है यदि आपको इनमे से आपको कोई भी परेशानी है तो आप यहा बताये गये घरेलू उपाए जरूर करे आपको जरूर आराम मिलेगा।

सबसे पहले तो आपको अजवायन का तेल और सरसो का तेल मिला कर कान में डाले, डालने के थोड़ी देर बाद आपके कान को आराम मिलेगा, यदि आपके पास अजवायन का तेल न हो सरसो के तेल में अजवायन के थोड़े से दाने डाले और चार से पांच मैथी के दाने डाल कर तेल को गैस पर रख कर गर्म करे तेल को इतना गर्म करना है की मैथी दाना और अजवायन के दाने पुटकने लगे जब ये पुटक जाये तो गैस को बंद कर दे।

जब तेल ठंडा हो जाये तो तेल को रूई की सहायता से तेल की दो से तीन बूँद कान में डाल दे, यदि आप ऐसा करेंगे तो आपके कान में चाहे सर्दी जुखाम, इंफेक्शन, नहाते समय कान में पानी के जाने से या किसी कारण होने से दर्द होता है तो आपको तुरंत ही आराम मिलेगा।

यदि आपके कान में दर्द दांत या जबड़ो के दर्द की वजय से होता है तो आप अजवायन को तवे डाल कर थोड़ा गर्म करे और गर्म गर्म ही एक कॉटन के कपड़े में रख कर जिस जगह पर दर्द होता है उस जगह की सिकाई कर ले बहुत जल्द आराम मिल जायेगा।

7. डायरिया से छुटकारा कैसे पाए

मौसम में बदलाब होने के कारण आजकल कोई भी बीमारी होना एक आम बात हो गई है, और उन आम बीमारियों में से एक है डायरिया जो की तेज गर्मी होने से वाले संक्रमण के कारण होता है या छोटे बच्चो को तेज ठंडी होने पर होता है जिसकी वजय से उल्टी, दस्त, बुखार और पेट में तेज दर्द जैसी समस्याएं सामने आती है।

ऐसे में आपको सबसे पहले घरेलू उपाए करने चाहिए, आपको एक चम्मच अजवायन और एक चम्मच जीरा को बारीक पीस कर दिन दो से तीन बार खाये और साथ में पानी ले इससे आपको आराम मिलेगा।

छोटे बच्चो के पेट में दर्द होने पर अजवायन को तवे पर डाल कर हल्का गर्म करे और सूती के कपडे में बाध कर बच्चे के पेट की सिकाई करे ऐसा करने से पेट दर्द कम हो जायेगा। और यदि बच्चा माँ के दूध का सेवन करता है तो माँ को उबले पानी में एक चम्मच अजवायन डाल लेना है और उस पानी का सारे दिन सेवन करने करना है।

8. स्तनपात में बृद्धि

अजवायन केवल मसाले में ही नहीं बल्कि पेट दर्द, डायरिया, जोड़ो का दर्द ही ठीक नहीं करती है यह गर्भाशय को संकुचन और स्तनदूध के उत्पादन की मात्रा को भी बढ़ाने में मदद करता है इसीलिए बच्चे को जन्म देने के बाद माँ को अजवायन खाने की सलाह दी जाती है साथ ही अजवायन का पानी भी पीने को कहा जाता है।

अजवायन में एंडीबैक्टीरियल, एंटीफंगस, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक पाया जाता है सब इन्ही गुणों के कारण जो औरते बच्चो को जन्म देती है उनको अजवायन का हलवा, लड्डू और भूनी अजवायन खिलाई जाती है।

स्तनपात बढ़ाने के लिए आप एक चम्मच अजवायन और एक चम्मच सौंप को आधा लीटर पानी में उबाल कर 10 मिनट तक पका ले और फिर इसे ठंडा होने रख दे जब यह ठंडा हो जाये तो आप इसे एक बोतल में रख ले अब इसको एक ढकन निकाल कर एक गिलास पानी में मिला कर सुबह – शाम इसका सेवन करे।

9. वजन कम करने के लिए अजवायन का सेवन करे

वजन कम करने के आसान तरीका

खान पान में परिवर्तन और रोजाना की भाग दौड़ से लोग अपनी सेहत पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे पाते है ऐसे में आपके पास रोजाना की दिनचर्या की वजय से आपके पास इतना समय तो होता नहीं है की आप योग करे या किसी भी तरह का एक्ससाइज करे ऐसे में आप डॉकटर की सलाह पर दी गई दवाओं का इस्तमाल करते है जिसकी वजय से आप कई सारी बीमारी और इन्फ़ेक्सन से शिकार हो जाते है ऐसे में आपको कुछ घरेलू उपाय भी करने चाहिए।

सबसे पहले आप एक चम्मच अजवायन को रात के समय एक गिलास पानी में डाल कर अलग रख दे सुबह पानी को पांच आने तक उबाल ले और छान ले अब पानी को ठंडा होने दे जब पानी ठंडा हो जाये तो खाली पेट पानी का सेवन करे इससे आप केवल 15 से 20 दिन में ही आपका वजन कम होने लगेगा।

यदि आप इतना नहीं कर सकते है तो आप सुबह उठ कर एक गिलास पानी ले पानी में एक चम्मच अजवायन डाले और पानी को आधा होने तक पानी को पका ले और पानी को छान कर ठंडा होने पर पानी का सेवन करे।

अब यदि ये दोनों उपाय न हो तो आप भूनी अजवायन को और भूने मैथी के दाने बराबर मात्रा में मिला कर चूर्ण बना ले और एक एयरटाइट डिब्बे में रख ले अब रोजाना सोने से एक घंटे पहले एक गिलास पानी को गुनगुना गर्म करे और उसमे आधा चम्मच बनाया हुआ चूर्ण मिलाये अब इसमें एक चुटकी काला नमक मिला कर चम्मच से घोल ले और इसका सेवन करे।

10. दाद-खाज खुजली में राहत

दाद खाज खुजली में अपनाये ये नुस्खा

गर्मी के मौसम में पसीना अधिक आने से कई लोगो को इंफेक्शन हो जाता है जिससे किसी को दाद किसी को खुजली, फुंसी होने लगती है पसीना आने की वजय से खुजली होती है और यदि प्रभावी स्थान को खुजला दिया तो फिर जलन होती है और अधिक स्थान में फैलने लगती है यदि आपको भी ऐसा ही होता है तो आप नहाने से पहले एक बाल्टी पानी ले पानी में 50 ग्राम अजवायन डाले और पानी को एक उबाल आने तक उबाल ले और ठंडा होने पर पानी से नहा ले।

अब  200 ग्राम अजवायन ले और गुनगुने पानी में मिला कर पीस कर लेप बना ले, अब इस लेप को प्रभावी अंग पर लगाए ऐसा करने से केवल पांच दिन में ही आपको बहुत आराम मिलेगा, और यदि आपको बहुत पुरानी दाद है तो वो भी पूरी तरह ठीक हो जाएगी।

11. दांत दर्द में राहत

दांत में दर्द होने के कई कारण हो सकते है किसी को एलर्जी की वजय से तो किसी को कैवटी की वजय से ऐसे में कोई डॉक्टर की सलाह लेता है तो कोई घरेलू नुस्खे अपनाता है।

यदि आपको भी या आपके घर में किसी को भी दांत में दर्द होता है तो आप ये नुस्खा जरूर अपनाये सबसे पहले आप सुबह उठ कर एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवायन डाल कर उबाल ले और उसी पानी से कूल्ला करे ऐसे में दांत के घाव की सिकाई हो जाएगी उसके बाद एक चम्मच भुनी अजवायन को एक चुटकी सेंधे नमक और एक चुटकी हल्दी मिला कर बारीक़ पीस ले और इसको अपने दांतो पर घिस ले ये प्रतिक्रिया दिन में दो बार जरूर करे और 10 दिन ऐसा करने से आपके दांत का दर्द पूरी तरह ठीक हो जायेगा।

आप अजवायन, सेंधा नमक और हल्दी को साथ मिला कर बारीक़ पीस कर एक डिब्बी में स्टोर करके भी रख सकते है ये खराब नहीं होता है यदि आपके मुँह से दुर्गंध आती है तो वो नहीं आएगी और यदि आप इसे दांतो पर घिसन के बाद मंजन करना चाहते है तो कर सकते है।

12. खटमल और मच्छरों से बचने का सबसे सरल उपाये

मच्छर भागने का एकदम सही तरीका

मच्छर भागाने का है सबसे सरल उपाए यदि आप भी मच्छरों से परेशान है तो ये नुस्खा जरूर अपनाये थोड़ी सी मेहनत और मच्छरों से छुटकारा चलिए जानते है मच्छर भागाने का मंत्र।

सबसे पहले आप थोड़े से नीम के सूखे पत्ते खोज ले अब शाम के समय एक किसी मिट्टी के बर्तन में या फिर आपके पास जो भी उसमे थोड़ा सा कोयला जला ले अब कोयले पर एक चम्मच अजवायन डाले और ऊपर से सूखे नीम के पत्ते डाल दे इन्हे जलने दे ये सब करने से पहले सारे घर के खिड़की और दरवाजे बंद कर दे फिर इन सब को जला दे इनके जलने से थोड़ी दुर्गन्ध आएगी लेकीन सारे मच्छर मर जायेगे।

ये जलने के 10 मिनट बाद दरवाजे और खिड़किया खोल दे।

कुछ खाने की बात हो जाये 

यह थे अजवायन खाने के फायदे आशा करती हूँ आपको इस पोस्ट से कुछ नया सुझाव मिला होगा, यदि आपके घर में यहां दिए किसी भी रोग से पीड़ित है तो आप यहां दिए उपाय को अपनाया।

Leave a Comment