नमस्कार दोस्तों इस आर्टिकल में मैंने सब्जियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में शेयर किये है ताकि आप भी सभी प्रकार की सब्जियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में नाम जाने और अपने बच्चो को भी इनके हिंदी और अंग्रेजी नामो से परिचित कराये।

हम सभी जानते है की सब्जिया कई किस्म की होती है जैसे कुछ सब्जियाँ ऐसी होती है जिनके हम बीज, पत्ते, फूल, फल, जड़ इस्तमाल खाने में करते है सभी में अलग – अलग पोषक तत्व होते है जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक होते है।

कुछ सब्जिया ऐसी होती है जिनको हम कच्चा खाते है जैसे मूली, गाजर, चुकंदर आदि ये जड़ वाली सब्जियों में आते है लेकिन इन्हे बिना पकाये खाया जाता है।

तो चलिए अब हम सभी प्रकार की सब्जियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में जानते है।

सब्जियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में (Vegetable names Hindi and English )

हिंदीअंग्रेजीअंग्रेजी में उच्चारण
हरी मिर्चGreen chillyग्रीन चिल्ली
आलूPotatoपोटैटो
बैगनBrinjalब्रिंजल
भिन्डीLady fingerलेडीफिंगर
टमाटरTomatoटोमेटो
प्याजOnionअनियन
लहशुनGarlicगार्लिक
अदरकGingerजिंजर
मटरPeasपीज
कददूPumpkinपम्पकिन
मूलीRadishरेडिश
फुल गोभीCauliflowerकॉलीफ्लॉवर
करेलाBitter guardबिटर गार्ड
चुकंदरBeet rootबीट रुट
शिमला मिर्चCapsicumकैप्सिकम
धनियाँCoriander leafकोरिएंडर लीफ
पत्ता गोभीCabbageकैबेज
कटहलJackfruitजैकफ्रूईट
पालकParsleyपार्सले
लौकीBottle gourdबोतल गॉर्ड
तोरीRidged gourdरिडगिड गॉर्ड
अरवीTaro rootतारो रुट
नींबूLemonलेमन
शलजमKohlrabi turnipकोह्लरबी तुरनिप
कुकरमुत्ताMushroomमशरुम
हरा प्याज़Green onionग्रीन अनियन
मक्काCornकॉर्न
शकरकंदSweet potatoस्वीट पोटैटो
खीराCucumberकुकुम्बर रुट
मुरारLotus rootलोटस रुट
पुदीनाMintमिंट
सरसों पत्ताMustard greensमुस्तरत ग्रीन्स
करी पत्ताCurry leafकरी लीफ
आजमोदाCeleryसेलरी
ग्वार फलीDrum stickड्रम स्टिक
सेम फलीLima beanलिमा बीन
करोंदाNatal plumनेटल पल्म
परवलPointed gourdपॉइंटेड गॉर्ड
च्चेंडाSnake gourdस्नेक गॉर्ड
कुलफाPurslaneपुरसलाने
लाल मिर्चRed chilliरेड चिल्ली
हरी गोभीGreen cabbageग्रीन कैबेज
गांठ गोभीCabbageकैबेज
मेंथीAsh Gourd / Winter melonऐश गॉर्ड / विंटर मेलों
सलाद हरी पत्ताSalad Green Leafसलाद ग्रीन लीफ
कच्चा आमRaw mangoरॉ मानगो
ककोराKakoraककोरा
राजमाBeansबीन्स
हरी चोलाईGreen cholaiग्रीन चौलाई
चिचिण्डीCichindiसिचिंडी
कच्चा केलाRaw bananaरॉ बनाना
अजवायनParsleyपार्सले
टिंडाTindaटिंडा
मोरिंगाMoringaमोरिंगा
कमल ककड़ीLotus cucumberलोटस कुकुम्बर
जिमीकंदGymnasticजिमनास्टिक
सिंघाड़ाWater chestnutवाटर चेस्टनट
सेमलSimalसिमल
पेठाAsh Gourd / Winter melonऐश गॉर्ड / विंटर मेलों
सुरती पापड़ीLablob Beansलबलब बीन्स
हाथी चकArtichokeआर्टिचोक
अरारोट/ शिशुमूलArrowootअररोवूत
पात्राColocasia Leavesकोलोकसिए लीव्स
कुलफाPurslaneपुरसलाने
पहाड़ी करेलाRam karelaराम करेला
अमड़ाHog Plumहॉग पल्म
कुंदरूTendliटेन्डली
चने की सागChane ki sagचने की साग
इस्कुसChayoteछायोटे
सफेद बैंगनWhite Eggplantवाइट एग्गप्लांट
सेंगरी की फलीRadish Podsरदिश पॉड्स
सनई का फूलSunnसुन्न
लाल पत्ता गोभीRed cabbageरेड कैबेज
कचरीMouse Melonमाउस मेलों
कच्चे केले का फूलRaw banana flowerरॉ बनाना फ्लावर
काली गाजरBlack carrotब्लैक केरट
बरबटी Green long beansग्रीन लॉन्ग बीन्स
बथुआ Wild spinachविल्स स्पिनच
हल्दी Turmericटर्मेरिक
ककोरा Spine Gourdस्पाइन गॉर्ड
गुलर Ficusफिक्स

ऊपर दी गई सूची में आप सब्जियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी के जान चुके है सब्जियों के नाम के आलावा हमे ये भी पता होना चाहिए की किस सब्जी से हमे कौन सा तत्व, विटामिन, फाइबर, पोटेशियम, प्रोटीन और पोषक तत्व प्राप्त होता है, ताकि आप उनका इस्तमाल खाने में सही तरह से कर सके।

तो चलिए अब जानते है कौन सी सब्जी में कौन सा पोषक तत्व पाया जाता है।

हरी मिर्च – हरी मिर्च में विटामिन ए, विटामिन सी और एंटी ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते है हरी मिर्च हमारी आँखो और त्वचा के लिए फायदेमंद होती है।

आलू – आलू में आयरन, प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन सी, विटामिन बी 6, फाइबर, कॉपर, फास्फोरस, थायमिन, मैगनीज, पोटेशियम जैसे कई पोषक तत्व पाए जाए है जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक होते है।

बैगन बैंगन में विटामिन सी पाया जाता है जो संक्रमण से दूर रखने में मदद करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में काफी फायदेमंद है। पोटेशियम व मैगनीशियम अधिक मात्रा में पाया जाता है।

भिन्डी – भिंडी में फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन, कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस, मैगनीशियम और आयरन भरपूर मात्रा में पाए जाते है।

टमाटर – टमाटर में विटामिन सी, लाइकोपीन, पोटेशियम और विटामिन पर्याप्त मात्रा में पाए जाते है।

प्याज – प्याज में एंटी-इंफ्लेमेट्री, एंटी एलर्जिक, एंटी ऑक्सीडेंट एंटी-कार्सिनोजेनिक, आयरन, फोलेट और पोटेशियम के गुण पाए जाते है इसलिए प्याज को सुपरफूड के नाम से भी जाना जाता है।

लहशुन – लहसुन में फास्फोरस, मैंगनीज, जस्ता, कैल्शियम, लोहा, विटामिन सी, विटामिन बी 6 और थोड़ी मात्रा में प्रोटीन, थायमिन और पैंटोथैनिक एसिड भी पाए जाता है जो सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते है।

अदरक – अदरक में सर्वाधिक मात्रा में विटामिन ए, विटामिन डी, विटामिन ई पाए जाते है इसके अलावा इसमें आयरन, जिंक, कैल्शियम और मैगनीशियम भी पाया जाता है जो सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।

मटर मटर में पर्याप्त मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है जिसमे रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है इसके अलावा इसमें कॉपर, जिंक, आयरन और मैगनीज मौजूद है जो हमारे शरीर की बहुत सारे रोगो से सुरक्षा करता है।

कददू – कद्दू में विटामिन बी 6, फाइबर, पोटेशियम, कॉपर मैग्नीशियम और विटामिन ई पाया जाता है कद्दू का सेवन करने से इम्यून सिस्टम बूस्ट होते है और त्वचा और बालो कि खूबसूरती बढ़ाता है।

मूली – मूली में विटामिन सी, फॉलिक एसिड और एंथोकाइनिन पाया जाता है जो शरीर को कैंसर से लड़ने में मदद करते है।

फूल गोभी – फूल गोभी में सबसे ज्यादा मात्रा में कार्बोहाइड्रेड और विटामिन सी पाया जाता है इसके अलावा इसमें 6% पोटेशियम, 3% मैग्नीशियम और 2% कैल्शियम पाया जाता है।

करेलाकरेले में सबसे अधिक मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है इसके अलावा इसमें फास्फोरस, लोहा और विटामिन सी भी कम मात्रा में पाए जाते है।

चुकंदर – चुकंदर में फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, कैल्शियम, क्लोरीन, आयोडीन, आयरन, विटामिन बी 1, विटामिन बी 2 और विटामिन सी काफी मात्रा में पाए जाते है चुकंदर खाने से हमारे शरीर की पोषण से जुड़ी सभी समस्या दूर हो जाती है।

शिमला मिर्च – शिमला मिर्च में कैलोरी न के बराबर होती है इसमें विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, बीटा कैरोटीन और फाइबर भरपूर मात्रा में होता है इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं बढ़ता है।

धनियाँ – धनिया को डाइट्री फाइबर्स का प्रमुख स्रोत माना जाता है इसके अलावा इसमें मैगनीज, मैग्नीशियम, आयरन, प्रोटीन, विटामिन सी, विटामिन के, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम थायमिन और कैरोटीन पाया जाता है।

पत्ता गोभी – पत्ता गोभी में विटामिन और लवण पाए जाते है जो हमारी सेहत के बहुत ही फायदेमंद होते है इसके अलावा इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और फाइटोकैमिकल पाए जाते है यह पोषक तत्व बढ़ती उम्र के लक्षणों को जल्दी हावी नहीं होने देते है।

कटहल – कटहल में विटामिन A, विटामिन C, थाइमिन, पोटैशियम, कैल्शियम, राइबोफ्लेबिक, आयरन, नियासिन जिंक और फाइबर पाया जाता है जो दिल के रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद होते है।

पालकपालक में विटामिन सी, विटामिन बी 2, विटामिन सी, विटामिन के, कैल्सियम, प्रोटीन, फास्फोरस, जस्ता, मैग्नीशियम, मैंगनीज, फाइबर और फोलेट पाया जाता है इसमें बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते है इसीलिए डॉक्टर के द्व्रारा इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है।

लौकी – लौकी में प्रोटीन, विटामिन, लवण, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक और पोटेशियम पाया जाता है डॉक्टर द्व्रारा मरीज को सबसे ज्यादा लौकी खाने की सलाह दी जाती है क्योकि यह हमारे शरीर में सभी आवश्यक तत्वों की पूर्ती करता है।

तोरी – तोरी को कई नामो से जाना जाता है जैसे नेनुआ और तोरई आदि। इसमें फ्लेवनॉइड्स और टैनिन पाया जाता है जो कैंसर के लक्षणों से लड़ने में मदद करता है।

अरबी – अरबी में विटामिन ए, विटामिन सी और एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते है जो कैंसर की कोशिकाओं का विकाश होने से रोकती है

नींबू – नींबू में पोटेशियम, लोहा, सोडियम, मैगनीशियम, तांबा, फास्फोरस और क्लोरीन होने के साथ इसमें कार्बोज, वसा, प्रोटीन और भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है।

शलजम – शलजम के पत्तो में भरपूर मात्रा में कैल्शियम और विटामिन ए काफी मात्रा में पाया जाता है इसके साथ ही इसमें बीटा कैरोटीन और पोटेशियम पाया जाता है जो भूख बढ़ाने में मदद करता है।

कुकरमुत्ता – मशरूम में विटामिन बी, फास्फोरस और पोटेशियम का अच्छा स्रोत है

हरा प्याज़ – हरे प्याज में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के और विटामिन बी 2 भरपूर मात्रा में पाए जाते है, विटामिन के अलावा इसमें कॉपर, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, पोटैशियम, क्रोमियम और मैगनीज भी पाया जाता है

मक्का – मक्के में विटामिन सी, कैरोटेनॉइड, बायोफ्लेविनॉइड्स और फाइबर भरपूर मात्रा में पाए जाते है मक्का हमारी धमनियों को ब्लॉक होने से रोकता है इससे मौजूद फाइबर कॉलेस्ट्रॉल नियंत्रित किया जा सकता है।

शकरकंद – शकरकंद में विटामिन सी और विटामिन ए पाया जाता है साथ ही इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है इसीलिए इसे डायबिटीज के मरीज भी खा सकते है।

खीरा – खीरा में विटामिन सी, विटामिन के, कॉपर, मैग्नीशियम, पोटेशियम, मैगनीज और सिलिका पाया जाता है जो हमारी त्वचा और बालो के लिए आवश्यक होता है।

पुदीना – पुदीना में प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, मेंथोल, विटामिन ए, कॉपर आयरन और रिबोफ्लेविक पाया जाता है पुदीना के पत्ते खाने से जमे हुई कफ को बाहर निकाल सकते है उल्टी को रोकने के लिए भी इसके पत्तो का सेवन किया जाता है।

सरसों के पत्ता – सरसो के पत्तो में विटामिन A, विटामिन C, विटामिन K, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, जिंक, कॉपर, पोटेशियम, सेलेनियम, मेगनीज, फोलेट और फाइबर पाया जाता है इसलिए सरसो के पत्तो को विटामिन और खनिज का भंडार कहा जाता है।

करी पत्ता – करी पत्ता में एथिल एसीटेट, डाइक्लोरोमेथेन और महानिम्बाइन पाया जाता है इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल को कम करने में किया जाता है साथ इसके सेवन से वजन कम किया जाता है इसमें ट्राइग्लिसराइडको नियंत्रित करने की क्षमता होती है।

आजमोदा – इसमें सोडियम, तांबा, मैग्नीशियम, लोहा, जस्ता, पोटेशियम जैसे खनिज शामिल है।

ग्वार फली – ग्वार की फली में आयरन और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है साथ ही इसमें फॉलिक एसिड और कई सारे विटामिन पाए जाते है यदि इसका सेवन गर्भवती महिला करती है तो यह इसमें आयरन की कमी को पूरा करता है और भूर्ण के विकास में मदद करता है।

सेम फली – थायमीन, विटामिन बी 6, नियासिन, पैंथोथेनिक एसिड के अलावा कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जिनसे खून साफ होता है।

करोंदा – करोंदे में विटामिन सी होता है साथ ही इसकी जड़ की छाल गर्म और कड़बी होती है इसकी जड़ की छल का सेवन करने से वात और कफ होने पर बेहद फायदेमंद होती है और इसमें ज्यादा मूत्र की समस्या होने पर यह बहुत ही फायदेमंद होता है।

परवल – परवल में विटामिन और खनिज दोनों पाए जाते है इसमें मुख्य रूप से विटामिन ए, विटामिन बी 1, विटामिन बी 2, और विटामिन सी पाया जाता है, इसके अलावा इसके छिलके में मैग्नीशियम, पोटेशियम फॉस्फोरस भी पाया जाता है।

कच्चा केला – कच्चे केले में विटामिन सी, विटामिन बी 6, प्रोविटामिन-ए, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम पाया जाता है।

मेंथी – मेंथी में फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट अधिक मात्रा में पाया जाता है जो पाचन में सहायक होता है।

कुंदरू – कुंदरू में फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है जो सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है।

सनई का फूल – सनई के फूल में कैल्शियम और फॉस्फोरस मुख्य रूप से पाए जाते है इसके अलावा इसमें फेनोल और फ्लवोनाइक भी पाए जाते है, कैल्शियम और फॉस्फोरस हड्डियों और दांतो के निर्माण और मजबूती के लिए आवश्यक होते है।

मोरिंगा – मोरिंगा में विटामिन ए, विटामिन बी 1, विटामिन बी 2, बी 3 और बी 6 पाया जाता है इसके अलावा इसमें कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम और मैग्नीशियम पाया जाता है ये सब कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है।

जिमीकंद – जिमीकंद को सुरन के नाम से भी जाना जाता है इसमें विटामिन ए, विटामिन बी 1, विटामिन बी 6, फाइबर और फोलिक एसिड के अलावा इसमें पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम और फास्फोरस पाया जाता है। जिमीकंद में कैंसर और बवासीर जैसे खतराक बीमारियों को कम करने के गुण पाए जाते है।

सिंघाड़ा – सिंघाड़ा में कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो आँखो, दांतो और हड्डियों के लिए आवश्यक होता है।

कच्चे केले का फूल – कच्चे केले के फूल में फाइबर, प्रोटीन, पोटेशियम, कैल्शियम, लोहा, मैग्नीशियम, तांबा, फास्फोरस और विटामिन ई पाया जाता है।

काली गाजर – काली गाजर में फाइबर, पोटेशियम, विटामिन-ए विटामिन सी, मैगनीज, विटामिन बी जैसे पोषक तत्व पाए जाते है।

बरबटी – बरबटी में पोटेशियम, मैग्नीशियम और लिग्निन पाया जाता है और इसमें बहुत कम मात्रा में क्लोरी पाई जाती है।

बथुआ – बथुआ विटामिन ए का प्रमुख स्रोत पाया जाता है कैल्शियम, फॉस्फोरस, और पोटेशियम पाया जाता है।

हल्दी – हल्दी में करक्यूमिन पाया जाता है जो कैंसर को बढ़ने से रोकता है और हल्दी पित्ताशय को उत्तेजित होने से रोकता है और हल्दी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

यह थे सब्जियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में इसके साथ कौन से सब्जी में कौन सा विटामिन कौन सा खनिज पाया जाता है इसकी पूरी जानकारी दी है, यदि आपको यहां दी गई सब्जी के अलावा कोई और सब्जी का नाम पता है तो आप मुझे कमेंट करके बता सकते है, मै उस सब्जी के नाम को भी मैं अपनी लिस्ट में जोड़ दूगी।

आशा करती हूँ की आपको मेरी ये जानकारी पसंद आई होगी, यहां दिए गए सब्जी आप अपने बच्चो को भी सीखा सकते है। यदि आपको मेरी ये जानकारी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों और रिश्तेदारों में जरूर शेयर करे।