Moong Dal And Paneer Paratha Recipe|

मूंगदाल और पनीर पराठा बनाना की विधि

दोस्तों इस पेज पर में आप को मूंगदाल और पनीर पराठा बनाना की विधि बता रही हूँ, वैसे तो बाजार में कई तरह के पराठा खाने को मिल जाते है और वह खाने में भी बहुत टेस्टी होते है लेकिन घर के बने मूंगदाल और पनीर के पराठे में जो स्वाद होता है उसका क्या कहना जो एक बार खता है दुबारा नहीं बल्कि हर बार उसी की फमारिस करता है।

दोस्तों आप सभी जानते है की दाल चाहे जो भी हो सेहत के लिए बहुत है फायदे वाली होती है, उसी तरह मूंगदाल भी पौष्टिक होती है, यह बच्चो और बड़ो भी को खिलाने से रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ती है।

यदि आपके बच्चे मूंगदाल को खाना पसंद नहीं करते है तो आप उन्हें मूंग दाल और पनीर के पराठे बनाना कर खिला सकते है मूंग दाल और पनीर दोनों ही सेहत के लिए फायदे वाले तो होते ही ये साथ ही खाना में टेस्टी होते है।

तो चलिए अब हम बनाना शुरू करते है मूंगदाल और पनीर पराठा

मूंगदाल और पनीर पराठा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

मूंगदाल : 1 कप छिलके वाली ( 4 घंटे पहले से पानी में भीगी हुई )

गेहूँ का आटा : डेड कप ( एक कप और आधा कप ओर )

पनीर : 1/3 कप

हरी मिर्च : 2

अदरक : 2 इंच

लहसुन :  5 कालिया

हल्दी पाउडर : 1/2 छोटी चम्मच

अमचूर पाउडर : 1/2 छोटी चम्मच

लाल मिर्च पाउडर : 1/2 छोटी चम्मच

अजवायन : 1छोटी  चम्मच

नमक : स्वाद अनुसार ( थोड़ा सा काला नमक )

घी : 2 छोटी चम्मच ( मोयन के लिए )

तेल : आवश्कता अनुसार ( पराठे सेकने के लिए )

मूंगदाल और पनीर पराठा बनाने की पराठा  की विधि

मूंगदाल और पनीर का पराठा बनाने के लिए सबसे पहले मूंग की दाल को चार घंटे के लिए पानी में भिगो कर रख दीजिये।  चार घंटे बाद दाल का सारा पानी अलग कर दीजिये दाल को कूकर में डालिये और एक कप पानी डालिये कुकर का ढकन बंद कर दीजिये गैस को चालू करके एक सीटी होने से पहले गैस को बंद कर दीजिये।

दाल को पका कर मैस नहीं करना है। गैस बंद करने के बाद कूकर को खोल दे, और दाल को थोड़ा ठंडा होने दे जब दाल ठंडी हो जाये तो दाल को कूकर से बाहर निकाल कर एक बाउल में रख ले। अब दाल को हाथ से मैस कर ले।

अब अदरक, लहसुन हरी मिर्च को साफ करके बारीक़ पीस ले और पनीर को बारीक़ मीड ले। अब इन सब को दाल के साथ मिक्स करले , अब इसमें अमचूर पाउडर, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, अजवायन और स्वाद अनुसार नमक मिला ले अब इसमें दो चम्मच घी डाले और अच्छे से मिक्स कर ले।

सारी चीजों को अच्छे से मिक्स करने के बाद इसमें गेहूँ का आटा डाल कर मिक्स कर ले , अभी इसमें पानी न डाले नहीं तो आटा गीला हो जायेगा।  जब मूंग दाल और गेहूँ का आटा अच्छे से मिक्स हो जाये उसके बाद थोड़ा -थोड़ा पानी डाले और पूरी से थोड़ा नरम आटा गूँथ ले।

जब आटा नरम गूँथ जाये तो आटा की चार से छः गोल – गोल लोई बना ले लोई बनाने के बाद गैस को चालू करे तवे को ले गैस पर रखे गैस को बिल्कुल धीमा कर ले।

गूथे हुए आटे की एक लोई ले लोई दोनों हाथो से गोल करके चपटा करे और गेहूँ का सूखा आटा लगा कर चकले पर रख कर बेलन से गोल बेल ले, अब गैस को तेज कर ले और बेले हुए पराठे को तवे पर डाल दे आधा मिनट बाद पराठे को पलट दे अब उस पर एक चम्मच से तेल डाल कर फैला दे गैस को मीडियम कर ले और पराठा को दोबारा से पलट दे।

अब दूसरी और भी तेल लगा कर पराठा सेक ले पराठे पर जब अच्छे चिट्टे पड़ जाये तो उसे थोड़ा और पलट पलट कर सेक ले और प्लेट में निकाल ले। पराठा बन तैयार है।

इसी तरह से सारे पराठे बना कर हरी चटनी के साथ, आलू छोले, आचार के साथ या जो भी सब्जी आपको पसंद हो उसके साथ परोस सकते है।

ये भी जाने आखिर कैसे बनते है 

मूंगदाल और पनीर पराठा बनाने के लिए जरूरी बाते

दाल को पानी से निकालने के बाद कूकर में एक सीटी आने से पहले तक पका ले ताकि दाल का कच्चा पन दूर हो जाये साथ ही दाल नरम हो जाये

गेहूँ के आटे के साथ मिक्स करने से पहले दाल को हाथ से मैस कर ले।

पराठे को सकते समय गैस को मीडियम रखे ताकि पराठा अच्छे से सिक सके।

मूंग दाल खाने के फायदे

छिलके वाली मूंग दाल खाने से पेट कब्ज की समस्या से झुटकारा मिलता है।

मूंग दाल हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी की पूर्ति करती है।

शरीर में यदि कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बड़ रही है ,तो मूंग की दाल के सेवन से इसको कम किया जा सकता है।

ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करती है।

मूंग की दाल के सेवन से वेट लॉस भी किया जाता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *