Thank you for bing here

सोया सॉस कैसे बनाते है। 10 मिनट में सीखे

सोया सॉस घर पर कैसे बनाये

दोस्तों इस पेज पर आप घर में सोया सॉस बनाने की रेसिपी जानेगे।

इस विधि से आप 10 मिनट में ही घर में सोया सॉस बना सकते है।

चाइनीज फ़ूड बनाने के लिए सबसे ज्यादा सोसा सॉस का इस्तमाल किया जाता है यदि आप अपने घर में चायनीज फ़ूड बनाते है तो आपको इसकी जरूरत जरूर पड़ती होगी ऐसे में आप सोया सॉस बाजार से न खरीद कर घर में शुद्ध सोया सॉस बना सकते है।

सोया सॉस बनाने में ऐसी कोई भी सामग्री का इस्तमाल नहीं किया जाता है जो हमारी सेहत को किसी भी तरह हानिकारक हो, चाहे वो सोया सॉस घर का बना हो या दुकान का।

तो चलिए घर में सोया सॉस बनाने की विधि जानते है।

सोया सॉस बनाने के लिए सामग्री

  • साबुत सोयाबीन : 50 ग्राम
  • साबुत गेहूँ : 50 ग्राम
  • गुड़ : 1 कप
  • नमक : स्वाद के अनुसार
  • चाय पत्ती : 30 ग्राम
  • अजीनोमोटो : 1 चम्मच
  • नींबू : 250 ग्राम
  • पानी : 1/2 गिलास

सोया सॉस बनाने की विधि

सोया सॉस बनाने के लिए सबसे पहले सोयाबीन और गेहूँ में से मिटटी और कंकड़ पत्थर निकाल दे और एक कटोरे में डाल कर साफ पानी से दो बार धो कर कटोरे में और पानी डाले और उसे एक रात के लिए ऐसे ही छोड़ दे।

तय समय बाद कटोरे में से पानी निकाल दे और साबुत गेहूँ और सोयाबीन को एक सूती के कपड़े पर निकाल ले।

कपड़े की पोटली बना ले और थोड़ी ऊंची जगह पर बांध दे ताकि पानी पूरा निकल जाए, अब इसे दो दिन के लिए ऐसे ही बंधा रहने दे।

दो दिन बाद जब आप देखेंगे की सोयाबीन और गेहूँ का अंकुरण हो गया होगा अब अंकुरित बीजो को भी एक बार फिर साफ पानी से धो ले।

अब गेहू और सोयाबीन के अंकुरित बीज को मिक्सी में डाल कर थोड़ा सा पानी डाल कर चिकना पेस्ट बना ले।

जब पेस्ट बन जाए तो उनसे मिक्सी के जार में ही रहने दे।

अब एक कढ़ाई में आधा गिलास पानी डाले और 30 ग्राम चाय पत्ती डाल कर चाय पत्ती को पूरा रंग छोड़ने तक पानी में 1 मिनट तक धीमी आंच पर उबाल ले।

एक मिनट बाद पानी में गुड़ और स्वाद के अनुसार नमक मिक्स कर ले, अब गुड़ को पूरी तरह से मिक्स होने तक पानी में उबाल ले, गैस की आंच धीमी होनी चाहिए।

जब गुड़ पूरी तरह से पिघल जाए तो मिक्सी के जार में रखे सोयाबीन और गेहूँ के पेस्ट को भी कढ़ाई में डाल दे अब चमचे से मिक्स कर दे।

सारी सामग्री मिक्स करने के बाद गैस की धीमी आंच में ही 5 मिनट तक पकने दे पांच मिनट बाद नीबू का रस भी मिला दे और गैस को बंद कर दे, सोया सॉस तैयार है।

अब सोया सॉस को ठंडे होने तक कढ़ाई में ही रहने दे जब सॉस ठंडा हो जाए तो उसे एक कांच के एयरटाइट कंटेनर या कांच की छोटी-छोटी शीशी में स्टोर कर ले यह बहुत दिनों तक ख़राब नहीं होता है।

सोया सॉस खाने के फायदे

  • सोयाबीन में LdL को कम करने के गुण पाए जाते है सोयाबीन में लेसितिण नामक पदार्थ पाया जाता है जो ह्रदय की नलियों में कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकता है।
  • सोयाबीन के दूध या इसके बने खाद्य का इस्तमाल करने से शरीर को एनीमिया और ऑस्टियोपोरोसिस नामक खतरे से भी दूर रखता है।
  • सोया सॉस सोयाबीन का बना होता है इसलिए महिलाओ अपने खाने में सोया सॉस का इस्तमाल जरूर करना चाहिए क्योकि जब महिलाओ में मासिक धर्म बंद होते है तो उनके शरीर में एस्ट्रोजन को कमी होने लगती जिससे उनकी हड्डियों को नुकसान पहुँचता है। यदि आप सोयाबीन को अपने रोज के खाने में जोड़ लेते है तो आपके शरीर में कभी भी कोई भी दर्द या हड्डी को नुकसान नहीं होगा।
  • यदि आप हाई बी पी के मरीज है बी पी हाई होने का मुख्य कारण रक्त में सोडियम की मात्रा अधिक और पोटेशियम की मात्रा कम होने के कारण होता है यदि आप सप्ताह में दो बार सोयाबीन या सोया सॉस का उपयोग करेंगे तो आप हाई ब्लड प्रेशर को सामन्य कर सकते है।

सोया सॉस खाने से होने वाले नुकसान

  • बाजार में मिलने वाले सोया सॉस को बनाते समय ग्लूटेमिक एसिड भी बनने लगता है ग्लूटेमिक एसिड में हमारे दिमाग की नसो को प्रभावित करता है।
  • यदि आप अधिक मात्रा में सोया सॉस का इस्तमाल कर रहे है तो यह आपके शरीर में खनिज को अवशोषित होने से रोकने लगता है जिससे हमारे शरीर में खनिज तत्वों की कमी होने लगती है।
  • बाजार में मिलने वाले सोया सॉस को बनाते समय केमिकल का इस्तमाल किया जाता है जिससे कुछ लोगो को एलर्जी भी सकती है।
  • गर्भवती महिला को और स्तनपात महिला को अधिक मात्रा में न सोयाबीन और न सोयाबीन के दूध का सेवन नहीं करना चाहिए क्योकि इससे उन्हें चक्कर, मतली, कमजोरी जैसे समस्या हो सकती है।

सोया सॉस का उपयोग

वेज सोया सॉस पुलाव, चाउमीन, पानीर की रेसिपी लिए, चिल्ली पोटैटो आदि बनाने में सोया सॉस का इस्तमाल किया जाता है।

Also Read :

यह थी सोया सॉस बनाने के विधि और इसके सेवन करने से होने वाले फायदे और नुकसान जो शायद ही आपको पहले से पता होंगे।

यदि आप घर के बने सोया सॉस का इस्तमाल तो यह शुद्ध होता है इसीलिए इससे आपको कभी भी एलर्जी नहीं हो सकती है।

सोया सॉस बनाने में न तो ज्यादा मेहनत लगती है और नहीं ज्यादा सामग्री की जरूरत होती है इसीलिए आप इसे स्टोर नहीं करना चाहते है तो आप कम मात्रा में भी बन सकते है और यदि आप इसे ज्यादा मात्रा में बना रहे है तो आप इसे फ्रिज में स्टोर करके रखे ज्यादा दिन तक ख़राब नहीं होगा।

रेसिपी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

Leave a Reply

*

Thank you for bing here